राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इतने हज़ार सैनिकों को लेकर किया यह बड़ा फैसला

Mentmaig (दुनिया):- अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने फैसला लिया है कि उनके करीब 12800 हज़ार सैनिकों को जर्मनी से वापस बुलाया जाएगा। जिनमें से 6400 सैनिकों को अमेरिका में रखा जाएगा, जबकि 6400 सैनिकों को दूसरे नाटो देश जैसे कि इटली और बेल्जियम में भेजा जायेगा।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का कहना है कि अमेरिका ने ये कदम जर्मनी के नाटो सैन्य बजट के लिए तय खर्च न करने के कारण उठाया है। बता दें कि उत्तरी अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) की स्थापना 4 अप्रैल, 1949 को 12 संस्थापक सदस्यों द्वारा अमेरिका के वाशिंगटन में की गई थी।

नाटो देशों का करीब 70 फीसद खर्च अमेरिका उठाता है। नाटो देशों ने 2024 तक अपने सकल घरेलू उत्पाद (GDP) का दो फीसदी रक्षा खर्च करने का संकल्प लिया है और जिससे जर्मनी इस टारगेट से काफी पीछे है। पिछले महीने राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा था कि जर्मनी खर्च में मदद नहीं कर रहा है।

सैन्य बल में कटौती का निर्णय लेने के बाद व्हाइट हाउस में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि हम सैनिकों की तादाद कम कर रहे हैं क्योंकि जर्मनी अपने बिल नहीं चुका रहा है। यह बेहद सीधी-सी बात है और उन पर अब बहुत बकाया है।

इसके अलावा अमेरिकी रक्षा नेताओं ने पेंटागन की एक योजना के बारे में जानकारी देते हुये बुधवार को ये बातें बताई हैं। उन्होंने कहा कि इस योजना पर अरबों डॉलर का खर्च आयेगा और इसे पूरा होने में कई वर्षों का समय लगेगा।

4 राशि के लोग हो जाएं खुश, 21 तारीख के दिन लग सकती है बड़ी लॉटरी

ये फैसला राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की जर्मनी से सैनिकों को वापस बुलाने की इच्छा के मद्देनज़र लिया गया है। इसके साथ ही बड़ी तादाद में सैनिक इटली भेजे जाएंगे और कुछ जर्मनी से बेल्जियम में अमेरिकी यूरोपीय कमान हेडक्वार्टर और विशेष अभियान कमान यूरोप जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *