सावधान: मोबाइल को पास रखकर सोने से हो सकतीं हैं ये तीन खतरनाक बीमारियां

मौजूदा समय में मोबाइल फोन इंसान के लिए एक उसके शरीर के अभिन्न अंग की तरह है। जिसके जरिए देश ही नहीं बल्कि दुनियाभर के हजारों लोग हर समय उससे जुडे रहते हैं। आज के समय में हर व्यक्ति अपनी जेब में एक फोन लेकर चलते का दावा करता है।

इस तरह आज दुनिया का हर इंसान बाहरी दुनिया से जुड़ा रहता है। ठीक है दुनिया काफी तेजी से तकनीक के मामले में आगे जो बढ़ रही है, लेकिन हमारा ये अभिन्न अंग हमारे शरीर पर कुछ गंभीर प्रभाव भी डाल सकता है।

यदि हम मोबाइल फोन के उपयोग से सावधान नहीं हैं। हमारे पास सोते समय अपने बिस्तर के बगल में मोबाइल फोन रखने की सामान्य प्रवृत्ति है। यह हमारे शरीर प्रणाली पर कुछ प्रमुख प्रभाव डाल सकता है। यहां उनमें से कुछ हैं।

1- कैंसर

हमारे बिस्तर के बगल में मोबाइल फोन रखने से हमारे शरीर की प्रणाली को प्रभावित करने के लिए विद्युत चुम्बकीय तरंगें बेहद नुकसान दायक हो सकती हैं। जिससे हमें कैंसर होने का खतरा बना रहता है।

विद्युत चुम्बकीय तरंगें एक निश्चित चुंबकीय क्षेत्र क्षेत्र में चारों ओर घूमती हैं। इसलिए हमें सोते समय निर्धारित क्षेत्र में नहीं गिरने के बारे में सावधान रहने की आवश्यकता है। हमारे फोन को सोते समय हमसे दूर रखा जाना चाहिए:

2- डिस्टर्ब्स स्लीप

ऐसे कई मौके हो सकते हैं जहां हम अपने फोन को चुपचाप या सोते समय फ्लाइट मोड में रखना भूल सकते हैं। इसलिए अचानक अलार्म, संदेश, टोन से हमें अचानक जगा सकती है और हमारी नींद खराब कर सकती है। यह एक खंडित नींद की स्थिति का कारण बनता है। जिससे नींद संबंधी विकार और सिरदर्द हो सकते हैं।

3- बर्न्स एंड इंजरी

कई प्रकार के शोधों में यह घोषणा की गई है कि फोन को बिस्तर या तकिये पर रखने से आग लगने का खतरा हो सकता है। यह आमतौर पर तब होता है जब फोन को कपड़े या कवर की मोटी सामग्री द्वारा कवर किया जाता है।

शोधकर्ताओं का दावा! आंसुओं से भी फैल सकता है कोरोना वायरस का संक्रमण

इसलिए हमें इस बात से सावधान रहने की जरूरत है कि हम सोते समय मोबाइल फोन को कहां रख रहे हैं। किसी भी तरह की लापरवाही हमें गंभीर नुकसान पहुंचा सकती है। प्रौद्योगिकी के आगमन को हमारे जीवन को आसान और लचीला बनाना है।

इस प्रक्रिया में हमें बिलकुल भी हानिकारक प्रभावों की अनदेखी नहीं करनी चाहिये। जिन्हें हमारे मानव जीवन में जोड़ा जा सकता है। आपको बता दें कि मोबाइल फोन एक जटिल उपकरण है, जो सिग्नल के साथ संचालित होता है और जो कई तकनीकी प्रक्रियाओं और तंत्रों के माध्यम से प्रेषित होता है। इसके सभी पहलुओं पर गहन जाँच के पश्चात ही हमें सुरक्षित, स्वस्थ्य और सावधान रहने में मदद मिल सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *