शोधकर्ताओं का दावा! आंसुओं से भी फैल सकता है कोरोना वायरस का संक्रमण

बैंगलोर मेडिकल कॉलेज एंड रिसर्च सेंटर और विक्टोरिया हॉस्पिटल के संयुक्त अध्ययन में आंसुओं से कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने का दावा किया गया है। शोधकर्ताओं के मुताबिक, आंसुओं में भी कोरोना वायरस का आरएनए पाया जा सकता है। अभी तक हम जानते हैं कि कोरोना वायरस ड्रॉपलेट और ऐरोसोल से ही फैलता है।

बैंगलोर मेडिकल कॉलेज एंड रिसर्च सेंटर के शोधकर्ताओं ने 45 कोविड-19 संक्रमित मरीजों पर यह परीक्षण किया गया। उन्होंने पाया कि एक मरीज के कंजंक्टिवा स्वाब में कोविड-19 वायरस पाया गया है, 24 वर्षीय युवक था जो लक्षणविहीन संक्रमण से पीड़ित था।

इस रिसर्च में सम्मिलित शोधकर्ता अंबिका रंगिया ने बताया है कि कंजंक्टिवा स्वाब में कोविड-19 वायरस मिलने की संभावना बेहद कम है पर डॉक्टरों को संक्रमित मरीज की आंखों की जांच के समय सावधानी बरतनी चाहिए। इसी तरह नेत्र रोगियों का इलाज करते समय नेत्र चिकित्सकों को सतर्क रहना चाहिए।

80 साल की इस बुजुर्ग महिला ने कैंसर जैसी घातक बीमारी को इस तरह दी मात, जानकर रह जाओगे दंग

सतह पर फैल सकता संक्रमण

रिसर्च के दौरान शोधकर्ता ने यह भी पाया है कि आंखों से निकला संक्रमित तरल पदार्थ आम सतहों पर गिरकर अनजाने में ही संक्रमण फैला सकता है। जिसे कोई स्वस्थ व्यक्ति सूंघ ले तो उसे यह संक्रमण हो सकता है।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि यदि किसी व्यक्ति की आंखों में लाली रहती है और चिपचिपा द्रव्य निकलता रहता है जिससे उसकी आंखों में जलन होती है या आंखों से पानी आता है तो ऐसे लोगों से संक्रमण सबसे जल्दी फैल सकता है। ठीक ऐसे ही निष्कर्ष चीन में हुए एक शोध के दौरान निकलकर सामने आया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *